फ़र्ज़ी निकला बिकाऊ मीडिया का दिखाया ‘हलाला स्ट्रिंग ऑपरेशन’

यहाँ से शेयर कीजिये

अभी पिछले कुछ दिनों से सोशल मीडिया पर मौलवियों के हलाल स्ट्रिंग ऑपरेशन की बात सामने आई और एक-दो वीडियो सोशल मीडिया में जमकर वायरल हो रहे हैं जिसमें बताया जाता है कि मौलवी एक लाख रुपए लेकर या 25000 लेकर हलाला करने की बात बोलते हैं. लेकिन आजमगढ़ एक्सप्रेस ने इस बात पूरी छानबीन की और जिस वीडियो में उस कथित इंसान को मौलवी को बताया जा रहा था दरअसल में वह कोई मौलवी नहीं है.

वह एक आम आदमी है और उस बिना पढ़े लिखे इंसान से इन मीडिया कर्मियों ने लगभग 3 घंटे तक बात की और उसे इतना ज्यादा परेशान कर लिया और तमाम तरह की बातों में उलझा कर रख दिए, इसके बात उसने जैसे तैसे इनसे पीछा छुड़ाया और बाद में उसके तमाम बातचीत के अंशो को तोड़ मरोड़ का एक वीडियो के रूप में जनता के सामने पेश कर दिया गया और इतना ही नहीं जब आजमगढ़ एक्सप्रेस ने इसकी छानबीन की तो पता चला कि यह है 10- 15 दिन पहले का मामला नहीं है. वल्की ये कई महीनों पहले यह लोग उससे मिलने आए थे.

काफी महीनों बाद जब सोशल मीडिया में किसी खास साजिश के मकसद के तहत इस वीडियो को मीडिया में भारत की जनता के सामने पेश किया है. ताकि मुल्ला, मौलवियों को और मुस्लिम समुदाय को बदनाम किया जा सके

उस स्टिंग ऑपरेशन में आप जिसको देख रहे थे उनका नाम आरिफ है जिनको आजतक ने अपने स्टिंग ऑपरेशन में इनको हलाला के लिए 25000 लेने की बात कही जब आजमगढ एक्सप्रेस के खुशी मोहम्मद ने इनसे बात की तो सारी सच्चाई निकलकर सामने आई ना ये कोई मौलवी हैं ना हाफिज लेकिन आज तक ने तमाम उलमा को बदनाम किया और अपने ऑपरेशन का नाम रखा ‘हलाला के नाम पर मौलवियों की काली करतूत’

मीडिया में जिस तरह से हलाला की पवित्र प्रक्रिया को गलत तरीके से बताया गया है यह एक प्रीप्लान सिस्टम के तहत स्टिंग ऑपरेशन किया गया है, और इन लोगों को पैसा लेकर बुलाकर बुलाया गया था, और जिस तरह से हलाला की प्रक्रिया मीडिया बता रहा है जैसे के औरत के साथ निकाह के बाद एक रात गुजारना जरूरी होती है यह कहीं से कहीं तक सही नहीं है, यह एक मात्र प्रक्रिया है या चाहे तो कह लीजिये रस्म है जिसमें अगर व्यक्ति चाहे तो वह अगले 1 मिनट बाद ही इस प्रक्रिया को पूरा कर सकता है.

तमाम लोगों से गुज़ारिश है के इस वीडियो को ज्यादा से ज्यादा शेयर करें और अपने उलमा हज़रात से कहना चाहता हूं आज तक के खिलाफ मानहानि का मुकदमा दर्ज कराया जाए ताकि ऐसे मीडिया वालों पर रोकथाम की जाए.

यह आरिफ है जिनको आजतक ने अपने स्टिंग ऑपरेशन में इनको हलाला के लिए 25000 लेने की बात कही जब Azamgarh Express के खुशी मोहम्मद ने इनसे बात की तो असलियत सामने आई ना ये कोई मौलवी हैं ना हाफिज लेकिन आज तक ने तमाम उलमा को बदनाम किया और अपने ऑपरेशन का नाम रखा हलाला के नाम पर मौलवियों की काली करतूत! मैं तमाम लोगों से कहना चाहता हूं इस वीडियो को ज्यादा से ज्यादा शेयर करें और अपने उलमा हज़रात से कहना चाहता हूं #आजतक के खिलाफ मानहानि का मुकदमा दर्ज कराया जाए ताकि इसकी काली करतूत पर रोकथाम की जाएJamiat Ulama'i Hind Jamiat Ulamae Hind We support Maulana sayyad Arshad Madani sahab Maulana Aamir Rashadi Madni Maulanafazlul Karim Mehdi Hasan Aini Asif Rn Wasim Akram Tyagi Ashraf Hussain Mohd Zahid Ajaz Khan

Posted by Azamgarh Express on 20 ઑગસ્ટ 2017

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *