अजमेर: लड़की दरगाह पर जियारत करने आई थी, खादिमों ने किया गैंगरेप

कोलकाता से अजमेर की दरगाह शरीफ पर वह चादर चढ़ाकर मन्नत मांगने आई थी, लेकिन आला हजरत के दरबार के खादिमों ने ही उसकी इजात तार-तार कर दी.

मिली जानकारी के मुताबिक़ जब महिला जायरीन कोलकता से जियारत करने अजमेर शरीफ की दरगाह पहुंची सैयद सलीम और शेख्जादा अजीम नाम के दो खादिमों ने उसे इमामबाड़ा स्थित सब्जवार गेस्ट हाउस में रुकने का न्योता दिया. पीड़िता के अनुसार वह उनकी बातों में आकर गेस्ट हाउस में रुक गई.

पीड़िता के मुताबिक़ कुछ देर बाद दोनों आरोपित उसके कमरे में पहुंचे और उससे निकाह का प्रस्ताव रखा और उसे बातों में उलझा कर धोखे से नशीला पदार्थ खिला दिया. आरोप है कि इसके बाद इन दोनों खादिमों ने महिला के साथ गैंगरेप किया. पीड़िता का आरोप है कि होश में आने के बाद उसे जान से मारने की धमकी दी गई.

महिला के अनुसार उसे  सब्जवार गेस्ट हाउस के उसी कमरे में बंधक बना लिया गया और आए दिन उसके साथ दुष्कर्म होता रहा. महिला ने बताया कि शुक्रवार को जब कमरे का दरवाजा खुला रह गया तो वही चौकीदार को गच्चा देकर भाग निकली और पुलिस को पूरी घटना की जानकारी दी.

गंज थाने की पुलिस ने पीड़िता की शिकायत के आधार पर आरोपी खादिमों के खिलाफ गैंगरेप का मुकदमा दर्ज कर आरोपियों की तलाश शुरू कर दी है. सैय्यद सलीम और शेखजादा अजीम के खिलाफ आईपीसी की धारा 376 डी और 342 के तहत मुकदमा दर्ज कर दोनों आरोपी खादिमों की तलाश शुरू कर दी है.

बात दें कि खादिमों द्वारा दरगाह पर आई महिला जायरीन की अस्मत लूटने की यह पहली घटना नहीं है. तीन महीने पहले दरगाह के इलाके में इसी तरह की की घटना सामने आई थी. जिसमे आरोपित खादिम ने महिला जायरीन को शादी का झांसा देकर उसकी अस्मत के साथ-साथ उसके रुपए भी लूट लिए थे.

पुलिस का कहना है कि मुकदमा दर्ज करने के बाद पुलिस ने इमामबाड़ा स्थित गेस्ट हाउस और आरोपियों के घर सहित सभी ठिकानों पर दबिश दी जा रही है. लेकिन आरोपियों का पता नहीं लग सका, पुलिस का मानना है कि दोनों आरोपी फिलहाल अपने-अपने घरों से फरार हैं. #source