MNNS प्रमुख राज ठाकरे बोले देश में शरिया कानून लागू किया जाये

हाल ही में महाराष्ट के अहमद नगर में एक लड़की के साथ बड़ी ही बेरहमी से बलात्कार के बाद हत्त्या कर दी गई थी, जिस पर गुस्साए महाराष्ट्र नव निर्माण सेना के प्रमुख राज ठाकरे ने कहा देश में बढ़ती बलात्कार की घटनाओं को देखते हुए कहा क़ी देश के अंदर इस्लामिक कानून (शरिया) लगाया जाये जिससे अपराधियों को जल्द और कड़ी से कड़ी सजा मिले.

शरिया कानून के डर की वजह से अपराध बहुत कम होते हैं

महाराष्ट्र नव निर्माण सेना के प्रमुख राज ठाकरे ने कहा जैसे सख्त शरिया कानून के तहत अपराधी को सरे आम बीच बाजार सारे लोगों की बीच खड़ा करके सज़ा दि जाती है, जिसके बाद किसी के अंदर ऐसी घटना को अंजाम देने की हिम्मत न आ सके जिससे देश में हो रही बलात्कार जैसी घटनाओं को नियंत्रित किया जा सके.

इकोनॉमिक्स टाइम्स में छपी खबर के अनुसार उन्होंने लोगों का ध्यान इस और आकर्षित किया कि की भारत में सामान्य क़ानूनी प्रकिया है जिससे फैसला आने में काफी वक़्त लगता है जिससे अपराधी द्वारा जमानत ले ली जाती है जिससे अपराधी के होंसले बुलंद हो जाते है.

शरिया कानून के अनुसार विवाह के बाहर किसी भी तरह के संबंध होना अपराध है

13 जुलाई को 3 लोगो ने एक 15 साल की लड़की के साथ बड़ी ही बेरहमी से बलात्कार के बाद उस की हत्त्या कर दी थी इन सब के लिए महाराष्ट्र नव निर्माण सेना प्रमुख राज ठाकरे ने इन सब घटनाओं के पीछे मौजूद और पिछली सरकारों को जिम्मेदार ठहराया है.

*क्या है बलात्कार की इस्लामिक (शरिया) की सज़ा*

बलात्कारियों को इस्लाम (शरिया) के अनुसार अपराधी को संगसार (पत्थर से मारना) इस्लामिक कानून (शरिया) के अनुसार पब्लिक प्लेस में एक मंच लगाया जाता है जिस पर बलात्कार के आरोपी को बांध दिया जाता है और जनता के द्वारा उस अपराधी पर जब तक पत्थर बरसायें जाते है जब तक वह अपने प्राण त्याग न दे.

*इस्लामिक देशों में कम है बलात्कार जैसे अपराध*
हाल ही में आई रिपोर्ट के अनुसार बलात्कार जैसे अपराध कम है
वही दूसरी और जिन देशों में लचीला कानून है वहां बलात्कार जैसी घटनाओं में अधिकता पाई गई है

अपनी कीमती राय ज़रूर दें, शुक्रिया! नए अपडेट पाने के लिए फेसबुक पेज ज़रूर Like करें, और अपने दोस्तों को भी दावत दें