डॉक्टर जाकिर नाइक के एनजीओ का रजिस्ट्रेशन कैंसल होगा

डॉक्टर जाकिर नाइक इस्लाम धर्म के गुरू के एनजीओ इस्लामिक रिसर्च फाउंडेशन (आईआरएफ) पर बैन लगाने की प्रॉसेस शुरू हो गई है। इसके विदेशी चंदा लेने पर भी रोक लगाई जा रही है। होम मिनिस्ट्री के सोर्स के मुताबिक एफसीआरए ने इसके लिए प्रॉसेस शुरू कर दी है।

होम मिनिस्ट्री नाइक के दूसरे एनजीओ इस्लामिक रिसर्च फाउंडेशन एजुकेशनल ट्रस्ट को भी प्रायर परमिशन कैटेगरी में रख रही है। इससे यह सरकार की इजाजत लिए बगैर कोई विदेशी चंदा नहीं ले पाएगा।ऑफिशियल सोर्सेज के मुताबिक, जांच में सामने आया कि नाइक के एनजीओ में आने वाले पैसे का इस्तेमाल टेरर एक्टिविटीज के लिए युवाओं को भड़काने में हो रहा है।

डॉक्टर जाकिर नाइक का पीस टीवी भी चलाता है। उसने विदेशी खाते से पीस टीवी को पैसा भेजा। पीस टीवी पर आतंकवाद को बढ़ावा देने के आरोप हैं। डॉक्टर जाकिर नाइक का एनजीओ कैसे विवादों में आया इस साल 1 जुलाई को बांग्लादेश की राजधानी ढाका के एक रेस्टोरेंट में आतंकी हमला हुआ था। इसमें 2 पुलिस ऑफिसर और 5 हमलावरों समेत 29 लोगों की मौत हो गई थी।

जांच में यह भी बात सामने आई थी कि हमलावरों ने घटना के वक्त जाकिर नाइक की स्पीच का हवाला दिया था।इसके बाद ही जाकिर नाइक और उसके एनजीओ विवादों में आ गए थे। और नाइक के एनजीओ पर क्या हैं आरोप आईआरएफ पर आरोप हैं उसे विदेशों से मिले चंदे का पॉलिटिकल यूज, धर्मांतरण के और टेरेरिज्म फैलाने के लिए यूज किया गया।मुंबई के चार स्टूडेंट्स जब आईएस में शामिल होने गए थे.

तब भी यह बात सामने आई थी कि वे जाकिर नाइक को फॉलो करते थे।आरोपों में घिरने के बाद होम मिनिस्ट्री ने आईआरएफ को मिलने वाले चंदे के सोर्स का पता लगाने का ऑर्डर दिया था।केंद्र सरकार और महाराष्ट्र सरकार ने जाकिर नाइक की स्पीच की सीडी की जांच के ऑर्डर दिए थे। डॉक्टर जाकिर नाइक का आतंकियों से क्या है कनेक्शन ढाका हमले में मारे गए 6 आतंकियों में दो आतंकी निब्रास इस्लाम और रोहन इम्तियाज जाकिर नाइक से इन्सपायर थे।

वो उसकी स्पीच सुनते थे।इम्तियाज ने पिछले साल जाकिर की स्पीच को फेसबुक पर शेयर भी किया था।हमले के दो दिन बाद ही ये खबरें मीडिया में आने लगी थीं कि ये जाकिर नाइक से इन्सपायर थे। कौन है डॉक्टर जाकिर नाइक
डॉक्टर जाकिर नाइक का जन्म मुंबई में 18 अक्टूबर 1965 को हुआ था।उन्होंने एमबीबीएस किया है।

नाइक एक मुस्लिम धर्मगुरु, राइटर और स्पीकर है। इसके अलावा वो इस्लामिक रिसर्च फांउडेशन या आईआरएस का फाउंडर और प्रेसिडेंट है यह फाउंडेशन पीस टीवी चैनल भी चलाता है। दावा है कि इसे दुनियाभर में करीब 100 करोड़ लोग देखते हैं।फेसबुक पर नाइक के 1 करोड़ 14 लाख फॉलोअर हैं।

loading...
loading...
अपनी कीमती राय ज़रूर दें, शुक्रिया! नए अपडेट पाने के लिए फेसबुक पेज ज़रूर Like करें, और अपने दोस्तों को भी दावत दें