दौर-ए-ज़हालत, सभी मुसलमानो से अपील है एक बार इस वीडियो को जरूर देखें अल्लाह रहम करे

वायरल वीडियो- फिलहाल पूरी दुनिया में आमद ए रसूल बड़ी धूम धाम से मनाया गया, और सरकार की आमद की दिन बेशक हमारे लिए सबसे अच्छा और सबसे बड़ा ख़ुशी का दिन है। इस पाक दिन में खुसी का इजहार एक अच्छी बात है।
मगर ज़हालत के साथ इस दिन को मनाना कोन सी खुसी का इजहार है।

क्या वक़्त के चलते इस्लाम का पुराना कोर्स अब बदल गया है ?

आप लोग अपने हिसाब से बताये और सबीते रसूल बताये की इस तरह ईद-मिलाद मनाना किस तरह तक जायज है।
अब आप कहेंगे की इस में तरीका क्या गलत है, तो आप को बताना चाहता हूँ केक का काटना यहूद और नासरा की चाल है।

नाच गाना जैसी बुराइयों को अल्लाह के नवी ने गलत बताया और हम क्या कर रहे है। अल्लाह के नवी के नाम पर नाच गाना कर रहे है, इस बात की इजाजत कोई भी नहीं देता। मुझे जो गलत लगा तो मैने आप को बताया अगर कोई बात गलत लगे तो आप लोग अपना जवाब जरूर दें।

अपनी कीमती राय ज़रूर दें, शुक्रिया!

नए अपडेट पाने के लिए फेसबुक पेज ज़रूर Like करें, और अपने दोस्तों को भी दावत दें