जंतर मंतर दिया सुन्नी समुदाय के लोगो ने धरना, बोले इस्लाम के खिलाफ कोई कानून मंज़ूर नहीं

भारत के प्रतिष्ठित सुन्नी सूफ़ी संगठनों ने आज दिल्ली के जंतर मंतर पर समान नागरिक संहिता के विरुद्ध ज़ोरदार प्रदर्शन किया और क़ानून आयोग को अपनी सिफ़ारिशों से पहले ली जाने वाली राय को इस्लाम के ख़िलाफ़ साज़िश बताते हुए इसे राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के एजेंडे पर देश को धकेलने की नीयत कहा

भारत के सुन्नी उलेमा की सबसे बड़ी तंज़ीम ऑल इंडिया तंज़ीम उलामा-ए-इस्लाम, भारत की प्रतिष्ठित रज़ा एकेडमी और भारत के सबसे बड़े मुस्लिम छात्र संगठन मुस्लिम स्टूडेंट्स ऑर्गेनाइज़ेशन ऑफ़ इंडिया समेत आधा दर्जन सुन्नी संगठनों के संयुक्त प्रदर्शन में प्रदर्शनकारियों और वक्ताओं ने केन्द्र की नरेन्द्र मोदी सरकार के विरुद्ध जमकर नारेबाज़ी की।

मुफ़्ती अशफ़ाक़ ने कहा कि जब हर सम्प्रदाय और मज़हब के लोगों को अपनी निजी संहिताओं, पुस्तकों, आस्था, विश्वास और परम्परा के अनुसार नागरिक क़ानून मानने की छूट है तो वह सिर्फ़ मुसलमानों के तलाक़ के मसले पर ही पीछे क्यों पड़ी है?

सईद नूरी ने कहा कि मोदी और भारतीय जनता पार्टी की देश को राष्ट्रीय स्वंयसेवक संघ के एजेंडे पर धकेलने की हर कोशिश को नाकाम किया जाएगा और भारत में हर विश्वास और धर्म के लोगों के निजी क़ानूनों की पालना की छूट को बचाने के लिए भारत का मुसलमान कोशिश करता रहेगा।

बरेली की आला हज़रत दरगाह के जनसम्पर्क अधिकारी और ऑल इंडिया तंज़ीम उलामा-ए-इस्लाम के राष्ट्रीय महासचिव मौलाना शहाबुद्दीन ने कहाकि दो दिन पहले बरेली दरगाह में ज़िम्मेदार लोगों की बैठक में यह तय हुआ है कि भारत के लॉ कमीशन, क़ानून मंत्रालय या मोदी सरकार को मुसललानों के निजी क़ानून में दख़ल का कोई अधिकार नहीं है।

शुजात ने कहाकि सुप्रीम कोर्ट के सायरा बानो के केस का हवाला देकर जो सवाल पूछे गए हैं उसमें तीन तलाक़ का मुद्दा था ही नहीं। ऐसे में रविशंकर प्रसाद एंड कम्पनी की इस नीयत पर सवाल उठाया जाना लाज़मी है कि जो बहस उन्होंने देश के सामने लाकर रख दी है क्या वह उसका राजनीतिक फ़ायदा भारतीय जनता पार्टी को उत्तर प्रदेश और पंजाब के चुनाव में देना चाहते हैं

इस प्रदर्शन के बाद भारत सरकार और लॉ कमीशन के नाम एक पत्र पर संयुक्त हस्ताक्षर कर रवाना किया गया। सभा में क़रीब दस हज़ार लोगों ने हिस्सा लिया। यहाँ जमा प्रदर्शनकारियों ने कहाकि आवश्यक हुआ तो इस प्रदर्शन को अनिश्चितकालीन धरने में तब्दील किया जाएगा।

अपनी कीमती राय ज़रूर दें, शुक्रिया!

नए उपडेट पाने के लिए हमारा फेसबुक पेज ज़रूर Like करें