जो लोग यह कहते है की उन्हें नमाज़ पढ़ने का वक़्त नहीं मिलता वह सिर्फ एक बार इस वीडियो को जरूर देख लें

नमाज जन्नत की कुंजी है,मरने के बाद सबसे पहले नमाज़ का हिसाब होगा। आज की ज़िंदगी बड़ी ही भाग दौड़ वाली हो गई है। और यह बात सच भी है,मगर नमाज़ को नमाज़ को वक़्त पर पड़ने हर मुसलमान पर फ़र्ज़ है।

आप लोग पूरी वीडियो को गौर से सुने

क्योकि एक मुस्लिम और गैर मुस्लिम के बीच सर नमाज़ का अंतर है। अब यह वीडियो ख़ास उन लोगों के लिए है, जो कहते है उन्हें नामज पड़ने का वक़्त नहीं मिलता या वह नामज नहीं पड़ पाते, उन लोगों के लिए उल्मा-ए-किराम का यह वीडियो बहुत अच्छा रहेगा जिससे नमाज के बीच आने वाली रुकावटों से लड़ना आसान होगा।

बस शर्त इतनी है की आप इस वयान को एक बार पूरी गोर के साथ सुन ले और जो आप से कहा गया आप उस बात पर अमल कर लें।

इस वीडियो में उल्मा-ए-किराम उन वाक्या (हदीसों)का हवाला दिया जो आप मोहम्मद साहब के ज़माने में पेश आये।
हमारी आप से गुजारिश है आप एक बार इस वीडियो को पूरा देखें और अगर आप को यह वीडियो पसंद आये तो ज्यादा से ज्यादा मुसलमानो तक यह वीडियो पहुँचाने में हमारी मदद करें।

Loading...
loading...