कश्मीर में फैले तनाव पर बोले ओवेसी

हाल ही में कश्मीर में फैले तनाब पर सांसद और एम.आई.एम के राष्ट्रीय सादर असदउद्दीन ओवेसी ने हाल ही में हुए मदीना में हुए एक आत्मघाती हमले का विरोध प्रदर्शन करते हुए अपनी एक सभा को सम्बोधित करते हुए कहा कि भारतीय सरकार कश्मीर के लोगो से बात क्यों नहीं करती?

उन्होंने कहा सब को मिलकर कश्मीर के लोगो के घाव भरने होगा उन्होंने कहा कि कश्मीर हमारे मुल्क का एक ऐसा हिस्सा है जैसे हमारे शरीर के अंदर दिल होता है. मगर आज जो कश्मीर में हो रहा है बहुत गलत हो रहा है. कश्मीर में रहने वाले हमारे भाई है.अगर उनको कुछ होता तो हमें दर्द होता है.

उन्होंने उन्होंने कहा कि हम आतंकवाद का समर्थन न कश्मीर में करते है न ही दुनिया में कही और किसी मुल्क में करते है आतंकवाद का इस्लाम से कोई लेना देना नहीं है. उन्होंने कहा की देश के प्रधानमंत्री को अपने एजेंडा ऑफ़ एलायंस पर बात करनी होगी.

उन्होंने हरियाणा में हुए उग्र जाट आंदोलन का हवाला देते हुए कहा कि जिस तरह उग्र प्रदर्शनकारोयों ने पुलिस डिपो में जहाँ हतियार रखे जाते है बहा से हतियार लेकर फरार हो गए थे मगर उस जगह आर्मी और पुलिस ने एक बी गोली नहीं चलाई थी.

फिर कश्मीर में पैलेट गन क्यों चलाई जा रही है? अपनी स्पीच में कहा कि में सरकार से गुजारिश करता हूँ की जो आँखों के एक्सपर्ट डॉक्टर की एक टीम को कश्मीर भेजे जिनकी आखो में पैलेट गन के छर्रे लगे है उन का इलाज हो सके
और प्रदर्शनकारियों पर पैलेट गन का उपयोग बंद किया जाये