मक्का में जसपुर के बुज़ुर्ग हाजी मोहम्मद अबू बक्र का इन्तेक़ाल

हज करने के बाद जसपुर के बुर्जग की दिमाग की नस फटने से मौत हो गई। शनिवार को बुर्जग का उसके बेटों ने मक्का में दफन कर दिया। बुर्जग हाजी की मौत से गांव में शोक की लहर है।
गांव खेड़ा लक्ष्मीपुर से पिछले दिनों मोहम्मद अबुब्रक(70) अपनी पत्नी खातून बेगम के साथ हज करने सऊदी अरब गये थे। उनके दो बेटे हबीबुर्रहमान एवं फजलूर्रहमान पिछले छह साल से सऊदी में काम करते है। बताते है कि सोमवार को हज की नमाज पढ़ने के बाद अबुब्रक के सिर में दर्द हुआ। ओर वह बेहोश हो गये।
abubakar
सऊदी में मौजूद अबुब्रक के बेटे हबीबुर्रहमान एवं फजलूर्रहमान ने अपने पिता को तुरंत मीना के एक अस्पताल में भर्ती करवाया। शुक्रवार को डाक्टरों ने दिमाग की नस फटने की बात कहते अबुब्रक को मृत घोषित कर दिया। अबुब्रक के बेटे मुस्तकीम ने बताया कि शनिवार दोपहर को उसके भाईयों ने उसके पिता का दफन मक्का में कर दिया है।उधर अबुब्रक की मौत से गांव में शोक व्याप्त है। ग्रामीण उनकी मौत की खबर सुनकर घर पहुंच रहे है।
बीमे के दो लाख रूपये मिलेंगे
हज कमेटी के चेयरमेन हाजी राव शेर मोहम्मद ने बताया कि हज यात्रा पर जाने से पहले प्रत्येक यात्री का दो लाख रूपये का बीमा कराया जाता है। उन्होंने बताया कि मृतक के परिवार को दो लाख रूपये दिलवाये जायेंगे।राव ने बताया कि मृतक के परिवार को मदद दिलाने के लिए भारत सरकार एवं सऊदी अरब सरकार से भी बात की जायेगी। साभार:upuklive.com

अपनी कीमती राय ज़रूर दें, शुक्रिया!

नए उपडेट पाने के लिए हमारा फेसबुक पेज ज़रूर Like करें