मंदिर में जाने से सिखों को रोका और कहा सरदार “Not Allowed” सिख भाई बोले कभी हमारे दरबार साहब आइए वहां किसी को नहीं रोका जाता

यह घटना केरल के तिरुवनंतपुरम में मत्था टेकने गए पगड़ी वाले सिख युवकों की है जिन्हें मंदिर के अंदर नहीं घुसने दिया गया और एक सिख भाई ने वहां के मंदिर के बाहर से ही सोशल मीडिया Facebook पर एक पोस्ट वीडियो पोस्ट किया है.

सिख युवक ने कहा कि हम लोग बड़ी श्रद्धा भावना के साथ यहां मंदिर में आए थे लेकिन मंदिर के मुख्य द्वार पर ही उनको रोक लिया गया और कहा कि ‘सरदार नॉट अलाउड’ इस सिख भाई ने अपने इस वीडियो में बताते हैं कि उनकी फ्लाइट में कुछ टाइम बाकी था तो इन्होंने सोचा कि चलो मंदिर के दर्शन कर लिए जाएं और इस तरह से यह लोग यहां आ गए.

और इतना ही नहीं है उन्होंने केरल के मंदिर में अंदर जाने के लिए खास धोतियाँ भी खरीद लिया था जो कि यह मंदिर में पहनकर गए थे. उनकी पगड़ी को देखकर उन्हें मंदिर में घुसने से बाहर ही रोक दिया गया इस घटना का एक असर यह भी पढ़ा कि जब मंदिर में सिख युवकों को अंदर नहीं जाने दिया जिस पर कुछ और लोगों को भी बुरा लग गया और उन्होंने भी अंदर जाने से मना कर दिया.

अपने वीडियो में यह सिख भाई बोलते हैं किस तरह के बर्ताव से उनकी भावनाओं को ठेस पहुंची है और आप कभी हमारे अमृतसर के दरबार साहिब में (हरमिंदर साहिब) आ कर देखिए वहां किसी भी धर्म का कोई भी व्यक्ति अंदर जा सकता है, लेकिन यहां एक हिंदू मंदिर में सिखों को अंदर नहीं जाने दिया जाता जबकि वह लोग केवल एक धोती पहनकर नंगे बदन के साथ ही मंदिर के अंदर जा रहे थे हमें वीडियो शेयर कर रहे हैं आपको यह वीडियो हम लोग आपको इसलिए शेयर कर रहे हैं ताकि इन लोगों की आपको सच्चाई पता चल जाए वीडियो देखने के बाद आप शेयर करें.