MODI SARKAR का सबसे बड़ा फैसला, अयोध्या में नहीं बनेगा राम मंदिर

क तरफ अयोध्या में राम मंदिर के मुद्दे को उत्तर प्रदेश के विधानसभा चुनाव के साथ जोड़कर देखा जा रहा है तो वहीं संस्कृति मंत्रालय ने राम संग्रहालय बनवाने की योजना बनाई है।
चुनाव के समय में ही उत्तर प्रदेश सरकार ने अयोध्या में राम और रामायण संग्रहालय बनवाने के लिए भूमि भी आवंटित कर दी है। यह भूमि विवादित जगह से 10-15 किलोमीटर दूर है।
अगले सप्ताह केंद्रीय संस्कृति मंत्री महेश शर्मा अयोध्या जाएंगे और इस प्रॉजेक्ट के ब्लू प्रिंट के बारे में अखाड़ों के साथ अन्य संबंधित लोगों से बातचीत करेंगे।
इसमें बीजेपी कार्यकर्ता भी हिस्सा लेंगे। हो सकता है कि वह म्यूजियम के लिए अलॉट की गई 25 एकड़ जमीन देखने भी जाएं। संस्कृति मंत्रालय म्यूजियम के लिए दी गई राशि को भी बढ़ाना चाहता है, जिससे राम की जन्मस्थली और हिंदू मान्यताओं के अनुसार प्राचीन शहर को सुंदर बनाया जा सके।
अगले सप्ताह मंत्रालय रामायण सर्किट अडवाइजरी बोर्ड से भी बातचीत करने की योजना बना रहा है। इसके अलावा अयोध्या में अंतरराष्ट्रीय रामायण सम्मेलन होने की भी उम्मीद है। पिछसे साल यह सम्मेलन मॉरिशस में हुआ था।
इस बार यह अयोध्या या चित्रकूट में हो सकता है। संस्कृति मंत्री राम लला के दर्शन करने भी जा सकते हैं। शर्मा ने बताया कि इसमें कुछ भी राजनीति नहीं है। उन्होंने कहा कि केंद्र ने इस प्रॉजेक्ट की राशि बढ़ाने का फैसला किया है। साभार: Liveindia.live

अपनी कीमती राय ज़रूर दें, शुक्रिया! नए अपडेट पाने के लिए फेसबुक पेज ज़रूर Like करें, और अपने दोस्तों को भी दावत दें