नजीब के लिए सड़क पर उतरे असदउद्दीन ओवैसी

नजीब के लिए सड़क पर उतरे असदउद्दीन ओवैसी , यही काम उनको सबसे पहले करना चाहिए था , मुद्दा सबसे पहले उठाना चाहिए था। काश की इतनी समझ आजाए कि टाइमिंग से शाट खेलने पर ही परिणाम मिलता है।

काश कि जब मामले ने तूल पकड़ा तब आते। 14 अक्टूबर से नजीब गायब है और आज 60 दिन बाद तक उसका पता भारत की पूरी व्यवस्था मिल कर पता नहीं कर पाई कि नजीब कहाँ है।

बुरा लगेगा पर सच यही है कि नेता को आगे बढ़ कर सबसे पहले आना चाहिए। खैर “देर लगी आने में तुमको शुक्र है फिर भी आये तो”