प्रधानमंत्री मोदी को अगर महिला सशक्तिकरण की चिंता होती तो पहले अपनी पत्नी की चिंता करते- दिग्विजय सिंह

कांग्रेस महासचिव दिग्विजय सिंह ने तीन तलाक के मुद्दे पर मोदी सरकार पर जमकर हमला बोला। दिग्विजय ने पत्रकारों से बातचीत करते हुए कहा कि तीन तलाक को समाप्त करने और समान नागरिक संहिता को लागू कर प्रधानमंत्री मोदी और भाजपा अगले आम चुनाव में राजनीतिक फसल काटना चाहते हैं। इसके लिए वो मुसलमानों में भय का माहौल पैदा कर देश में संप्रदायिक तनाव उत्पन्न करना चाहते हैं।

दिग्विजय ने मोदी के तीन तलाक के औचित्य पर प्रश्न खड़ा करने तथा महिलाओं के सशक्तिकरण की बात करने पर उन पर प्रहार करते हुए कहा कि वे मुस्लिम महिलाओं के सशक्तिकरण की बात करते हैं पर एेसा वे स्वयं करने में विफल रहे हैं। दिग्विजय का इशारा मोदी की अपनी पत्नी से दशक पूर्व अलग होने की ओर था।

दिग्विजय ने मोदी पर निशाना साधते हुए कहा कि पीएम मोदी की कथनी और करनी में अंतर है। उन्होंने कहा कि पठानकोट की घटना में आईएसआई के अधिकारियों को बुलाने की क्या आवश्यकता थी? उन्होंने केंद्र की मोदी सरकार को हर मोर्चे पर विफल बताया।

कांग्रेस महासचिव ने कहा कि यूपीए शासनकाल में भी सर्जिकल स्ट्राइक हो चुकी हैं, लेकिन कांग्रेस ने कभी उसका राजनीतिक फायदा लेने की कोशिश नहीं की। उन्होंने आरोप लगाया कि लक्षित हमले की चर्चा को जीवंत रखे जाने से ऐसा प्रतीत होता है कि प्रधानमंत्री आने वाले समय में भारत को पाकिस्तान के साथ युद्ध में ले जाएंगे।

अपनी कीमती राय ज़रूर दें, शुक्रिया! नए अपडेट पाने के लिए फेसबुक पेज ज़रूर Like करें, और अपने दोस्तों को भी दावत दें