अयोध्या में राम मंदिर को RSS ने ही गिराया :- शंकराचार्य स्वरूपानंद सरस्वती का बयान

शंकराचार्य ने हरिद्वार में अयोध्या मामले पर अपना बयान देते हुए RSS को काफी खरी-खोटी सुनाई है। अयोध्या में राम मंदिर और बाबरी मस्जिद के पुराने विवाद पर शंकराचार्य ने RSS को गलत बताते हुए कहा की अयोध्या में बाबरी मस्जिद कभी थी ही नहीं। RSS ने मुसलमानों के खिलाफ आन्दोलन बोल हिन्दुओ के मंदिर को ही गिरा दिया था।

शंकराचार्य ने कहा की जिस जगह को आरएसएस ने मस्जिद बताकर कर तोड़ दिया वहा कभी मस्जिद थी ही नहीं। अयोध्या में शुरू से ही राम मंदिर है। उन्होंने इस मामले की पुष्टि करते हुए बाबर की भी जमकर तारीफ की है। जिस बाबर को मंदिर तोड़ ने के अप्राद में इतना बदनाम किया जाता है वह बाबर ऐसा इंसान था ही नहीं। ऐसा पाप और अपमान बाबर कर ही नहीं सकता है। उन्होंने दावा किया है की मंदिरों को तोड़ ने का काम औरंगजेब किया करता था।और बाबर इक सही इंसान था।

शंकराचार्य ने कहा की आरएसएस के सचिव डॉ मोहन भागवत अयोध्या में आदर्श राम का मंदिर बनाने की बात किया करते है जबकि ऐसा नहीं है। अयोध्या में वह भगवान राम का मंदिर बनाएंगे। उन्होंने कहा की वह हिन्दुओ के नेता है और हिन्दू समाज वही करेंगा जो वह कहेंगे।