loading...

सऊदी अरब में क्यों हुए भारतीय बेहाल, हुए रोटियों तक को मुहाल?

loading...

सऊदी अरब में रह रहे करीब 10 हजार भारतीयों के लिए भूखे मरने की नौबत आ गई है। उन्हें नौकरी से निकाल दिया गया है। उनके मालिकों ने उन्हें 8 महीने से तन्ख्वाह भी नहीं दी है। ऐसे में भारत सरकार इन लोगों की मददगार बनके सामने आई है। विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने खुद इस मामले पर नजर रखी हुई हैं। सरकार ने स्थानीय भारतीयों के मदद से इन लोगों के लिए खाने का इंतजाम किया है। साथ ही 10 हजार भारतीयों की ”एयर लिफ्टिंग” की योजना पर भी काम शुरू हो गया है। जानिए सऊदी में भूख से बेहाल क्यों हुए भारतीय, क्यों गवानी पड़ी नौकरीयां.

सऊदी अरब और कुवैत में बड़ी संख्या में भारतीयों की नौकरी छिनी, 10 हजार लोगों का खाने का संकट

सऊदी अरब और कुवैत में बड़ी भारतीयों को अपनी नौकरी गंवानी पड़ी है, इसके चलते उनके सामने आजीविका का संकट पैदा हो गया है. जिन कंपनियों में यह लोग काम कर रहे थे, उन कंपनियों के मालिकों ने अपनी-अपनी कंपनी और फैक्ट्री बद कर दी है. साथ ही कंपनी और फैक्ट्री मालिकों ने उनके बकाये वेतन का भुगतान भी नहीं किया है.

भारत सरकार का कदम काबिले तारीफ़

loading...

विदेश मंत्री सुषमा स्वराज के मुताबिक सऊदी अरब में करीब 10,000 लोगों के सामने खाने का भी संकट है. विदेश मंत्री ने सऊदी अरब में बसे 30 लाख भारतीय समुदाय से अपने परेशान भाइयों की मदद करने की अपील की है, साथ ही उन्होंने सऊदी अरब स्थित भारतीय दूतावास से बेरोजगार भारतीय मजदूरों को मुफ्त में राशन मुहैया कराने का आदेश दिया है.

उन्होंने कहा, ‘मैं आश्वस्त करना चाहती हूं कि सऊदी में बेरोजगार हो गया कोई भी भारतीय कामगार भूखा नहीं रहेगा। मैं हर घंटे इस पर नजर रख रही हूं, विदेश मंत्रालय की ओर से दी गई जानकारी के मुताबिक समस्या को सुलझाने के लिए विदेश राज्य मंत्री वीके सिंह को सऊदी अरब जा रहे हैं.

वह कुवैत और सऊदी अरब की अथॉरिटीज से बातचीत कर मामले को सुलझाने की कोशिश करेंगे. फिलहाल कितने भारतीयों को सऊदी और कुवैत में अपनी नौकरी से हाथ धोना पड़ा, इस बात की पूरी जानकारी अभी नहीं मिली है।

सुषमा स्वराज के ट्वीट

“सऊदी और कुवैत में भारतीय नागरिकों को अपने काम और वेतन से जुड़ी कई दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है और सऊदी में ‘‘मामले ज्यादा खराब हैं.’’
“सउदी और कुवैत में बड़ी संख्या में भारतीयों ने अपनी नौकरियां गवाई हैं और उनके नियोक्ताओं ने उन्हें वेतन नहीं दिए हैं और अपने कारखाने बंद कर दिए हैं.’’
‘‘मेरे सहकर्मी वीके सिंह इन मामलों को सुलझाने के लिए सउदी जाएंगे और एमजे अकबर कुवैत और सउदी के अधिकारियों के सामने इस मुद्दे को उठाएंगे.’’
‘‘मैं सउदी में 30 लाख भारतीयों से अपील करती हूं. कृपया अपने साथी भाइयों-बहनों की मदद कीजिए.’’
‘‘मैं आपको यकीन दिलाती हूं कि सउदी अरब में नौकरी गंवाने वाले किसी भारतीय को भूखा नहीं रहना पड़ेगा. मैं पूरे मामले की निगरानी हर घंटे कर रही हूं.’’
‘‘हमने रियाद में भारतीय दूतावास से कहा है कि वह सऊदी अरब में बेरोजगार भारतीय कामगारों को मुफ्त राशन मुहैया कराए’’#source

यह भी पढ़ें:-
‘वॉटर विद दलित’ अभियान में दलित का जूठा पानी पीएंगे मुसलमान’
वायरल सचः क्या है एक औरत के पेड़ पर चढ़कर नमाज पढ़ने के वीडियो की सच्चाई
इस्लाम में पोकेमॉन गो ‘हराम’ सऊदी अरब में गेम के खिलाफ फतवा
नमाज़ है एक बेहतरीन किस्म का योग – वैज्ञानिकों का दावा
विडियो देखें: गौरक्षा के नाम पर फिर राजस्थान में एक नया कांड

Loading...

loading...
Loading...
अपनी कीमती राय ज़रूर दें, शुक्रिया! नए अपडेट पाने के लिए फेसबुक पेज ज़रूर Like करें, और अपने दोस्तों को भी दावत दें