सिमी के आतंकी भागते हैं या भगाये जाते हैं ? दिग्विजय सिंह ने उठाए सवाल

भोपाल की सेंट्रल जेल से फरार सिमी के आठ आतंकियों को जेल से करीब 10 किमी दूर भोपाल के बाहरी इलाके ईटखेड़ी गांव में पुलिस ने मार गिराया है। भोपाल के आईजी योगेश चौधरी ने बताया कि सुरक्षाबलों द्वारा घेरे जाने के बाद सभी आतंकी मार गिराए गए। शेख मुजीब, खालिद, मजीद, अकील खिलजी, जाकिर, महबूब, अमजद और सलिख जेल से फरार हो गए थे।

केवल सिमी के ही गुर्गे जेल तोड़ते हैं ऐसा क्यों, क्या ये किसी साजिश का हिस्सा तो नहीं ?

जेल से फरार होने से पहले आतंकियों ने जेल गार्ड रमाशंकर की हत्या कर दी। सिमी के ये आतंकी 2013 में खंडवा जेल से भी फरार हुए थे। लेकिन कुछ महीनों के बाद पुलिस ने इन्हें गिरफ्तार किया था। केंद्रीय गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने मध्य प्रदेश सरकार से रिपोर्ट पेश करने को कहा था।

उन्होंने ट्वीट कर कहा है कि ये आतंकी भागे हैं या किसी योजना के तहत भगाए गए हैं? दिग्विजय सिंह ने कहा कि जिस प्रकार से सिमी के लोग जेल तोड़ के भाग रहे हैं इसकी जांच होनी चाहिए। कहीं ये मिली-भगत का नतीजा तो नहीं?

शिवराज सिंह चौहान ने कहा

सीएम शिवराज सिंह ने कहा कि ये जेल ब्रेक एक गंभीर मामला है,जिसके तह तक जाने के लिए जांच होनी चाहिए। उन्होंने गृहमंत्री राजनाथ सिंह से एनआइए जांच की मांग की थी जिसे केंद्र सरकार ने मान लिया है। शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि स्थानीय लोगों की मदद से आतंकियों को मार गिराने में कामयाबी मिली।

बहादुर पुलिसकर्मियों की सरकार सराहना करती है। लेकिन कांग्रेस के वरिष्ठ नेता कमलनाथ ने कहा कि जिस ढंग से आतंकियों को मार गिराया गया है, वो सवालों के घेरे में है।सभी आतंकी मारे जा चुके हैं लिहाजा इसकी जानकारी मुश्किल है कि वो किस तरह से जेल से फरार होने में कामयाब हुए।

 

अपनी कीमती राय ज़रूर दें, शुक्रिया!

नए अपडेट पाने के लिए फेसबुक पेज ज़रूर Like करें, और अपने दोस्तों को भी दावत दें