डॉक्टर ने फेंका 500 का नोट और मरीज़ से कहा- मोदी से इलाज करा लो

मध्यप्रेदश : मध्यप्रदेश के ग्वालियर में एक मरीज ने इलाज के बाद डॉक्टर की फीस के लिए 500 का नोट दिया, तो डॉक्टर ने तुरंत उस नोट को फेंक दिया और मरीज के अंटेंडर से जमकर अभद्रता करके कहा कि जाओ नरेन्द्र मोदी से इलाज करा लो। यही नहीं अफसरों के कहने पर इस डॉक्टर ने कह दिया कि मेरी सेवाएं इमरजेंसी में नहीं आती हैं।

ग्वालियर शिंदे की छावनी में मनोचिकित्सक डॉ.मुकेश चंगुलानी का क्लीनिक है। यहां पर आरके शिवहरे अपने बेटे का इलाज कराने डॉक्टर के पास पहुंचे इलाज कराने के बाद मरीज ने जैसे ही फीस के रूप में शिवहरे ने डॉ.चंगुलानी को 500 का नोट दिया, वैसे ही वे नाराज होने लगे।

शिवहरे ने कहा कि वे अभी बैंक से नोट नहीं बदल पाएं हैं और शिवहरे ने सरकार के उस आदेश का हवाला भी दिया, जिसमें कहा गया है कि डॉक्टर पुराना नोट ले सकते हैं। यह सुनते ही डॉ. चंगुलानी ने जमकर खरी-खोटी सुना दी और 500 का नोट फेंक दिया।

यही नहीं डॉक्टर ने कहा कि ले जाओ ये 500 का नोट और प्रधानमंत्री मोदी से ही इलाज करवा लो। इसके बाद डॉ.चंगुलानी ने शिवहरे और उनके बीमार बेटे को क्लीनिक से बाहर निकाल दिया बाद में शिवहरे ने कलेक्टर एसपी से इसकी शिकायत की है। उनके मुताबिक भारतीय मुद्रा का ऐसे अपमान नहीं किया जा सकता है।

मामला सामने आने के बाद डॉक्टर का कहना है कि वे मरीजों से बाद में फीस लेने की बात कह रहे हैं। यदि कोई मरीज दूर-दराज से आता है तो वह पुराना नोट ले लेते हैं। और डॉ. चंगुलानी ने कहा कि सरकार ने इमरजेंसी सेवाओं में पुराने नोट देने की बात कही है और मेरा इलाज इमरजेंसी के दायरे में नहीं आता है, क्योंकि में एक निजी किलीनिक चलाता हु।