वायरल सच: सरकार विद्यार्थियों को नोकरी दे रही है या पैसा कमा रही है – खास रिपोर्ट

इस पोस्ट को पढ़ने के बाद आपको यकीन हो जाएगा कि वाकई में सरकारी सिस्टम किस हद तक गिरा हुआ है. क्या यह वाकई में बेरोजगार युवकों को नौकरी देते हैं? या फिर नौकरी देने के नाम पर लाखो लोगों को आए दिन ठगा जा रहा है अगर सहमत हो तो इस पोस्ट को और भाइयों को भी शेयर जरूर करना.

किसी भी सरकारी विभाग की Vacancy निकलती हैं तो उसकी फार्म फीस 500-700 होती ही है

14407535_656326904531746_1855110206_n

उदाहरण के लिए:-
पोस्ट होती हैं 50 (Seat)
फॉर्म पूरे भारत से भरवाते हैं ।

फॉर्म फीस होती हैं 500 रु
50 लाख से 80 लाख विद्यार्थी फॉर्म भरते हैं

आइये सरकार का फायदा देखते हैं

500 रु फॉर्म फीस × 50,00,000 विद्यार्थीयों ने फॉर्म भरें =
(कुल आय फॉर्म फीस से)
2 अरब 50 करोड़ रु

नौकरी देनी हैं 50 को
सैलेरी 25000 रु प्रति माह मान लेते , ज्यादा मानी गयी हैं इतनी होती नहीं हैं

25000 × 50 लोग = 12,50,000 महीना

12,50,000 × 12 महीने = 1 करोड़ 50 लाख
चालीस साल की नौकरी करने पर*
1,50,00,000 × 40 साल = 60 करोड़
सरकार की फॉर्म फीस कुल आय = 2 अरब 50 करोड़ रूपए
अप्पोइंटेड लोगों की 40 साल तक की सैलेरी*
60 करोड़ रु
2,50,00,00,000 – 60,00,00,000 = 1,90,00,00,000

सरकार की कुल आय = 1 अरब 90 करोड़ रु
मेरा सवाल – सरकार व विभाग से यह हैं कि आप विद्यार्थीयों को नौकरी देना चाहते हैं या पैसा कमाना चाहते हैं ???
इस संदेश को अपने जान पहचान के लोगों को अवश्य बांटे..धन्यवाद!

loading...
loading...
अपनी कीमती राय ज़रूर दें, शुक्रिया! नए अपडेट पाने के लिए फेसबुक पेज ज़रूर Like करें, और अपने दोस्तों को भी दावत दें