यशोदाबेन दोबारा बनेंगी प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की दुल्हन, मदद के लिए आगे आये बरेली के मौलाना

मौलाना तौकीर रजा ने पीएम मोदी की कड़े शब्दों में निंदा की तीन तलाक पर मुस्लिम महिलाओं के हक़ के लिए उठाई गयी आवाज पर इत्तेहाद ए मिल्लत काउंन्सिल के राष्ट्रीय अध्यक्ष मौलाना तौकीर ने पत्रकार वार्ता में कहा, मुस्लिम पर्सनल लॉ में हस्तक्षेप करने की कोशिश न करे मोदी नहीं तो इसका कड़ा विरोध किया जाएगा।

उन्होंने कहा कि यदि पीएम नरेन्द्र मोदी को वास्तव में महिलाओं से इतनी हमदर्दी है तो पहले उस महिला के साथ न्याय करें जो उनके साथ विवाहित हैं। उन्होंने यह भी कहा कि अगर मोदी की पत्नी न्याय पाने की कोशिश करेंगी, तो हम उनके लिए आगे आयेंगे।

मौलाना तौकीर ने महिलाओं के लिए पीएम मोदी की हमदर्दी को बेबुनियाद बताया। साथ ही इसे शोहरत हासिल करने का एक पैंतरा बताया।उन्होंने कहा, जो इंसान खुद की पत्नी का दर्द नहीं समझ सका वो दुनिया की महिलाओं की बात कैसे कर सकता है और हमें इस्लाम में किसी की दखल अंदाजी पसंद नहीं है

उन्होंने यह भी कहा कि इस्लाम में महिलाओं का सम्मान किया जाता है। इसलिए यदि मोदी जी की पत्नी यशोदाबेन अपने हक़ के लिए आवाज उठाएंगी तो उनका साथ देने में वे कोई कसर नहीं छोड़ेंगे।

वहीं तौकीर रजा ने बाम्बे की हाजी अली दरगाह में महिलाओं के प्रवेश पर मुम्बई हाईकोर्ट की अनुमति देने के आदेश पर टिप्पणी किये बिना कहा कि महिलाओं द्वारा मजार पर जाना शरियत के दायरे में गुनाह है उन्होंने कोर्ट के आदेश पर रुख करते हुए मामले में दखल देने वाले उलेमा और मौलाना को जिम्मेदार ठहराया।

अपनी कीमती राय ज़रूर दें, शुक्रिया!

नए उपडेट पाने के लिए हमारा फेसबुक पेज ज़रूर Like करें